Search latest news, events, activities, business...

Saturday, October 31, 2015

मुझे कलाकार कहलाना ही पंसद हैः इरफान खान


प्रेमबाबू शर्मा

पान सिंह तोमर के लिए नेशनल अवॉर्ड जीतने वाले और कई हॉलीवुड फिल्मों में काम कर चुके 49 साल के इरफान खान के लिए यह साल काफी अच्छा रहा है। ‘तलवार’ में उनके काम को सबने खूब पसंद किया और अब उनकी फिल्म ‘जज्बा’ में भी उनके काम को पंसद किया गया। पेश है उनसे बातचीत के कुछ अंश

 आप इस समय कई फिल्मों में काम कर रहे हैं। कैसे मैनेज कर रहे हैं?
मैं कई महीनों से लगातार शूटिंग करके थक चुका हूं। दो महीने से अधिक समय तक यूरोप में था, जहां एक जापानी टीवी शो के लिए काम कर रहा था। इसके बाद भारत लौट कर फिल्म प्रमोशन में लग गया। अब परिवार के साथ छुट्टियां बिताने का मूड है। एक महीने में ही मेरी दो फिल्में रिलीज हुई हैं, इसलिए प्रमोशन का काम भी काफी बढ़ गया था।

ये साल कैसा रहा है?
मेरे लिए काफी अच्छा रहा। श्तलवारश् में सभी ने मेरे काम की सराहना की, इसके लिए मैं सभी को धन्यवाद देता हूं। उम्मीद है कि आगे भी इसी तरह की फिल्में करता रहूंगा।

विदेशी फिल्मों व सीरियलों में काम करने का अनुभव कैसा रहा?
पश्चिमी देशों में लोगों का काम करना बॉलीवुड से थोड़ा अलग है। वहां किरदार पर काफी रिसर्च करनी पड़ती है। वहां लोगों का हमें देखने का नजरिया काफी अलग है। वे सोचते हैं कि हम नाचने-गाने वाली फिल्में ज्यादा बनाते हैं। मैं चाहता हूं कि इस सोच में बदलाव आए। हालांकि पिछले कुछ समय में अब यहां भी लोगों का फिल्मों के प्रति नजरिया बदल रहा है।

किस तरह से लोगों का नजरिया बदला है?
श्लंचबॉक्सश् और ‘पीकू’ जैसी फिल्मों को पसंद कर लोगों ने यह जता दिया है कि सिनेमा में उनकी दिलचस्पी अब बदली है। मैं चाहता हूं कि भारतीय फिल्म निर्माता अब विश्व भर के फैंस को ध्यान में रखकर फिल्में बनानी शुरू करें।

आप तो स्टार बन गए हैं।
मैं खुद को स्टार नहीं मानता। लोग मुझे जो कहना चाहें वो कह सकते हैं, लेकिन मैं केवल अभिनेता ही कहलाना चाहता हूं। एक साधारण आदमी, जो अपना काम ईमानदारी से करने की इच्छा रखता है। स्टार का तमगा मुझे नहीं चाहिए।

‘स्लमडॉग मिलियनेयर’, लाइफ ऑफ पाई और जुरासिक वल्र्ड के बाद अब किस हॉलीवुड फिल्म में दिखेंगे?
इनफर्नो की शूटिंग हो रही है। इसमें टॉम हैंक्स के साथ छोटा-सा किरदार निभा रहा हूं। फिल्म अगले साल रिलीज होगी।

Workshop on “ROLE OF MEDIA IN STUDENTS’ LIFE” held at CRPF Public School


Creatives World Media Academy organized yet another unique workshop on “ROLE OF MEDIA IN STUDENTS’ LIFE” at CRPF Public School, Sector-16, Dwarka. Mr.S.S.Dogra-Senior Journalist, Managing Editor of Dwarka Parichay & Founder of the said academy, interacted with more than two hundred students of IX-XII class.

 In the said workshop, With the help of Power Point presentation , Mr. Dogra nicely explained the meaning /branches of media & its achievement with the introduction of computer in India. Mr. Dogra assured the students that with the help of good programmes aired on Radio, Television, inspiring/informative articles in newspapers/magazines, even fair use of internet & Social media (Facebook, What’s-up, App), the students can increase their knowledge/memory power & able to get better academic /practical result. The best utility of Media , during schooling, can create a sound foundation in student’s life to face any challenge bravely & qualify for brighter career ahead.

(Photography: Amrit)

La Trobe University announces ‘Thought Leadership Award’

(L-R) Amit Malhotra, Dr. Amanda Day & Prof. John Dewar, VC &
President La Trobe University, Australia


Prembabu Sharma​

La Trobe University is a multi-campus university in Victoria, Australia and has been one of Australia’s pioneering universities for over 45 years offering distinctive and high-quality degrees that equip students to understand and engage with the global issues of today providing graduates with the skills to embark on rewarding careers. The University encourages students and staff to gain international experience and develop a curriculum and research programs of International Standards.

Professor John Dewar Vice-Chancellor La Trobe University visited India to announce the newly introduced award ‘Thought Leadership Award.’

The ‘Thought Leadership Award’ has been developed by La Trobe University to identify students who can demonstrate outstanding potential to become the thought leaders of the future. This competition requires students to develop an essay whereby they can showcase their deep understanding of the most pressing challenges facing the global community.

Professor Dewar said La Trobe has always shared a strong connection with India. This ‘Thought Leadership Award’ has been instituted to encourage Indian students to be prepared for the global challenges. We are proud to visit India almost every year. We look forward to further enhance our bonding with India.”

For details, please visit www.latrobe.edu.au/international

Dwarka Baat Cheet “Romantic Realism in Urdu Poetry” - Gauhar Raza


ह्यूमेनिटी अचीवर्स अवॉर्ड से कई फ़ेमस समाज सेवी हस्तियां,मॉडल, फेशन डिजायनर,पत्रकारों और लेखको को सम्मानित किया गया


इंसान का इंसान के प्रति धर्म ! जी हाँ वो है मानवता ! मंगलवार की शाम देश की कुछ नामचीन हस्तियों ने मानवता के नाम की ! इस प्रयास को बैनर दिया निवेदिता फाउंडेशन और नीलिमा ठाकुर के अथक प्रयासों ने !


लोधी रोड पर लोक कला मंच पर शुरू कार्यक्रम मे ह्यूमेनिटी अचीवर्स अवॉर्ड का आयोजन किया गया ! जिसमें विशेष अतिथी के रूप मे क़यामत से क़यामत तक और अपरहण जैसी फ़िल्मों मे खलनायक की भूमिका निभाने वाले अभिनेता पंडित बृजगोपाल और वरिष्ठ समाजसेवी श्री आर एस ढाका ने की ! मंच संचालन दूरदर्शन पर आँखो देखी के जरिये घर घर पहुँचने वाली अनुराधा दास और एफएम रैनबो के आरजे दिलीप ने किया !

वहीँ आखिर क्यों जैसे मर्मस्पर्शी नाटक के मंचन ने बेटी की अँतर्व्यथा को बखूबी जागृत किया ! देश की कई फ़ेमस समाज सेवी हस्तियां,मॉडल, फेशन डिजायनर,पत्रकारों ,लेखको को सम्मान देकर एक मिसाल पेश की है!

योगगुरु तेजस्वी हो या विकलांगता को टक्कर देने वाले क्रिकेटर सुमित कुमार, ऐक्टर मनीष मेहता की बात करें या सलोनी सिंह, हेयरस्टाइलिस्ट शील्वी या फ़िर सोमवीर हो ! अंतर्राष्टीय मुक्केबाज परमजीत की उपलब्धि देखें या नाज़ जोशी बनने की कहानी सबने अपने अपने तरीक़े से इंसानियत के लिए एक मिसाल पेश की है !

पंडित बृजगोपाल को उनकी उपलब्धियों के चलते लाईफटाईम अचीवमेंट अवॉर्ड से सम्मानित किया गया ! वही उन्होने इस अवॉर्ड को अपने जीवन का अलग तरह का अवॉर्ड बताया जिसमें मानवता के लिए कुछ करने के लिए प्रेरित किया है !


Share your achievements at FACEBOOK:
https://www.facebook.com/dwarka.parichay

News - Events, e paper Subscription link:
http://feedburner.google.com/fb/a/mailverify?uri=dwarka-delhi&loc=en_US

R.D. Rajpal School hosts Bamboo Orchestra by Taiwanese Artists


Students and teachers from a number of schools in Dwarka were delighted to be part of the Delhi International Festival, when R.D. Rajpal School hosted the Taiwan Bamboo Orchestra, on Saturday, 17th October 2015. The members of the Orchestra group were welcomed in the Indian traditional way with tilak and garlands. After the lighting of the ceremonial lamp, students of the host school presented a lively cultural programme in honor of the visiting guests. The Yoga and Rajasthani folk dance performances received much appreciation.

The Delhi International Arts Festival, recognized the world over, as the signature festival of India, organized the programme in association with the ministries of Culture and Tourism, Govt. of India. After the objectives of holding such cultural events were elaborated, the Taiwan Bamboo Orchestra group set the stage on fire with their perfectly coordinated melodies from instruments made of bamboo. The interactive session with students that followed proved to be interesting and educative during which, a lot of ideas on Indian and Taiwanese cultures were exchanged.

Friday, October 30, 2015

Sandeep Baswana & Vinay Jain roped in for Sony Entertainment Television’s Parvarrish Season 2

Prembabu Sharma

Sony Entertainment Television’s upcoming show, Parvarrish Season 2 is already the talk of the town. Giving the audiences a little more to talk about, Sandeep Baswana and Vinay Jain have been confirmed for the role of male leads. This will be the first time, the duo will be sharing the television screen for the first time. They will be portraying pivotal roles in the show opposite the female leads, Gautami Kapoor and Sangeeta Gosh.

Confirming the same, the talented Sandeep Baswana said, “This is my first show with DJ's Creative Unit and I am really glad to be a part of the show. The show is a complete family drama with a tinge of fun as it deals with the upbringing of children which can be really tricky in today’s time. I am essaying the role of Surinder aka Sangeeta Gosh’s husband, Kulvinder who is an orthodox father, who is trying to protect his children from the chaotic world. It’s good to work with Sangeeta as she is one of the finest actress in the industry and it also makes my job much easier. I can completely relate to the character and I am having a great time shooting. I am glad to work with Gautami once again and I am looking forward to create a good show with this fantastic team.”

Adding to this and confirming his association with the show, the talented Vinay Jain said, “It feels great to associate with Sony Entertainment Television and DJ’s Creative unit once again. I was a great fan of 1st season of Parvarrish and had always wished to be a part of it. When I was approached for Season 2, it was an offer I couldn’t turn down and let go. In real life I have 2 growing kids which makes the subject matter of parenting very close to my heart. I am essaying the character of Raj who is Sneha aka Gautami Kapoor’s husband and a father to a daughter. The way my fans will witness me on the show is the sort of father I aspire to be like to my real life children. I have already started shooting for the show and I am enjoying every moment of it.”

Surely, Sandeep & Vinay along with the television divas, Gautami and Sangeeta will rock the show. Catch the powerhouse performance of Sandeep & Vinay only on Parvarrish Season 2 coming soon on Sony Entertainment Television

“MERE SAI RAM” released


On Thursday 29th October 3PM, at Star Preview [MHADA] four bunglow, near telephone exchange Andheri west. Where except Sudhir Dalvi who has enacted role of ‘Saibaba’ was not present due to health reason, but other cast and credits were present, they loved this film as it has some different content. Film is distributed by Worldwide Marketed by Israr Ahmed of Screen Short Media & Entertainment Group, Publicity by Fortune Lifeline’s Shabeer Sheikh. Film is released today on 30th Oct 2015.

Film is produced by Sujit Ghosh, Arundhati Ghosh, Directed by Navin Joshi, Music by Shakeel Ahmed, lyrics Sujit Ghosh & Hemangi Bhatt, singers Ghani Mohammed, Sujata Patwa and Madan Shukla, Film is marketed by Screen Shot Media & Entertainment Group. Music by Yellow & Red. It is an SRG Films & Video presentation. Film stars Sudhir Dalvi, Mukul Nag, Piew Jana, Rahul Barapatre, and Smita Dongre in main role.

This film is not a docu-drama on the life of Sai Baba like the earlier films, rather it delves into the relationship between a devotee and ‘Sai Baba’. It talks about the teachings of Saibaba and its increasing relevance in today’s world and how his principles can form the basis of an ideal society. Sudhir Dalvi, who is known for playing ‘Shirdi Sai Baba’ on the screen will be soon seen essaying the revered saint.

Animal Day Celebrated at Shiksha Bharati School Dwarka


Animal Day celebration was held in Shiksha Bharati Public School. The main motto to celebrate this programme was to aware people to save wild life and to love animals and God creations. Nursery & K.G. kids performed different dances on jungle theme, sang beautiful rhymes and presented moral based stories to be kind towards animals. It was a fantastic programme beautifully decorated in whole jungle theme. All kids ware dressed up as different animals, flowers, birds and water animals. 

Mr. Kuldeep Sharma was invited as a Chief Guest, he is the manager of Nav Gyan Deep School and coordinator of public school committee. All the senior authorities of S.B.P.S. were also present to motivate nursery children and appreciated their wonderful job. Parents were also invited to watch their young ones their amazing performance.

Swadeshi Mela 2015 from 30-31 Oct & 1 Nov.




VIRASAT - A cultural festival @CCRT Dwarka



VIRASAT - A cultural festival @CCRT Dwarka from 29-31 October

Entry by limited FREE passes only.

HURRY! collect your FREE passes from 
CCRT
15A, Sector-7, Dwarka, New Delhi -110045
Phone: 011- 25074256, 25309300


Thursday, October 29, 2015

Missing Manhole Cover in Dwarka



Sir,

For the last over three months, repeated requests made to Mr Pratap Singh,AE,DDA,Looking after Sec-22, Dwarka to put manhole cover near Maharani Awanti Appts,Sec-22,has not yielded any response.

To avoid any untoward incident/ risk to humane life, as a responsible citizen, have arranged to temporary cover the manhole as a JUGAR.Apathy/silence on the part of DDA official needs to be looked into.Similarly, behind Mount Carmel School big slab of manhole is missing for over two years, but no action.Whether DDA will act only after some tragedy happens?

On this track, not only the people going towards Metro Station -21 walk , large number of school children from Pochanpur Village also go to Govt school in sec-22, adjoining Bank Vihar Aptts.


Citizen's reporter
Shashi Kapoor

kapoor.shashi@hotmail.com

करवाचैथ के दौरान महिलाओं का सौंदर्य

शहनाज हुसैन

करवा चैथ सभी विवाहित महिलाओं के लिए विशेष उत्सव कहलाया जाता है। यह त्यौहार महिलाओं के सौंदर्य से सीधे  तौर से जुड़ा है क्योंकि इस दिन सभी उम्र की महिलाएं सज्ज-ध्ज्ज कर अपने पति की आरती उतारती है तथा उनके मंगल जीवन एवं दीर्घायू की कामना करती है। मेंहदी, सिन्दूर, चूडि़यां तथा बिंदी करवा चैथ त्यौहार में महिलाओं के सौंदर्य का अभिन्न अंग है। 

अगर आपकी त्वचा सापफ है तो आप पफाऊडेंशन को छोड़ सकती है। आप अपनी त्वचा को सापफ करके उस पर सनस्क्रीन तथा माइस्चराइजर का प्रयोग कीजिए तैलीय त्वचा के लिए एस्ट्रीजन्ट लोशन का प्रयोग करने के बाद पाऊडर लगाऐ। तैलीय त्वचा के लिए ज्यादा पाऊडर का प्रयोग मत करें तथा चेहरे के तैलीय भागों पर ही ध्यान दे। पूरे चेहरे तथा गर्दन पर हल्की गीली स्पंज से पाऊडर का प्रयोग करें। इससे चेहरे का सौंदर्य लम्बे समय तक बना रहता है।

अगर आप पफाउंडेशन का प्रयोग करना चाहती है तो केवल जल आधरित पफांउडेशन का ही प्रयोग करें तथा हल्के कवरेज के लिए एक या दो बूंद पानी प्रयोग में ला सकती है। पफांउंडेंशन जितना भी सम्भव है आपकी त्वचा के रंग से मेल जोल खाती होनी चाहिए तथा उसके बाद पाऊडर का उपयोग करें। चेहरे पर प्रकृति आभा के लिए अच्छी तरह ब्लैड करके गालों को ब्लशर से चमकाए।

आंखों की सुन्दरता के लिए अपनी पलकों को पेंसिल या काजल से चमकाऐं। आंखों पर कोमल प्रभाव के लिए पलकों पर भूरी या स्लेटी आई शैडों का प्रयोग करें तथा इसके बाद मस्कारा का प्रयोग करें जिससे आंखों पर चमक आ जाएगी तथा मेकअप में भारीपन की दिखावट भी नहीं होगी। मस्कारा को एक भारी मुलम्मे की बजाय दो हल्की तहों में करना चाहिए। पहला कोट करने के बाद इसे सूखने दें तथा इसे कंघी या ब्रश कर लें। इसके बाद दूसरा कोट कीजिए तथा पहली प्रक्रिया को दोहराईये। इसके बाद दूसरा कोट कीजिए तथा पहली प्रक्रिया को दोहराईए।

लिपस्टिक की सुन्दरता के लिए घने गहरे रंगों का उपयोग न करें क्योंकि चमकीली लाईट में यह ज्यादा गहरे दिखाई देते हैं जिससे आपकी आभा पर विपरित असर दिखाई देता है। 

सौंदर्य पर चार चांद लगाने के लिए गुलाबी, ताम्रवर्णी, कांस्यवर्णी रंगों का प्रयोग करें। नारंगी रंग या नारंगी शेड का प्रयोग पफैशन का नया प्रचलन है। विकल्प के तौर पर आप हल्के बैंगनी तथा गुलाबी रंगों का प्रयोग भी कर सकतेी है लेकिन यह सभ्ीा रंग अत्याध्कि चमकीले नहीं होने चाहिए। 

बिन्दी करवा चैथ के सौन्दर्य का अभिन्न अंग मानी जाती है। अपनी पोशाक से मिलती जुलतें रंग की सजावटी बिन्दी का प्रयोग करें। छोटे चमकीले रत्नों से जडि़त बिन्दी कापफी आर्कषक लगती है। अपने सौन्दर्य में इत्रा लगाना कभी न भूलें क्योंकि यह सोने पर सुहागें का काम करता है उचित जीवनशैली अपनाने से चहेरे पर चमक तथा उत्साह की झलक मिलती है। तेजस्वी आभा के लिए उचित पोषाहार, व्यायाम पर्याप्त नींद, तथा विश्राम अत्यन्त आवश्यक है। त्यौहार से कुछ हफ्रते पहले हल्का व्यायाम तथा पैदल चलने की आदत डालनी चाहिए। पैदल चलना शारीरिक तथा मानसिक स्वस्थ्य दोनों के लिए अत्यन्त लाभकारी साबित होता है।

मन की शान्ति तथा स्वास्थ्य के लिए लम्बी गहरी सांसे सबसे ज्यादा लाभप्रद मानी जाती है।

करवाचैथ के त्यौहार के दिन नई दुल्हनें तथा युवा महिलाएं दुल्हनों जैसी पोशाक पहनना पसन्द करती है जिससे उन्हें दुल्हन जैसा अहसास प्रदान होने का दुबारा अवसर मिलता है। आज के दौर में परम्पारिक लाल रंग के साथ-साथ गहरा गुलाबी रंग, हल्का गुलाबी रंग, हल्का नीला रंग, पिफरोजी नीला रंग, हल्का बैंगनी रंग, स्ट्राबैरी, कांस्य, जामुनी रंग भी कापफी आकर्षक तथा लोकप्रिय माने जाते है। युवा महिलाओं में दो रंगों का मिश्रण भी कापफी लोकप्रिय माना जाता है।

डैªस के तौर पर लैहंगा चोली कापफी लोकप्रिय हैं या महिलाएं घने अलंकृत कुर्ते के साथ सलवार - कुर्ते का प्रयोग भी कर सकती है। साड़ी के परम्पारिक तरीके से पहनने की बजाय इस तरीके से पहनना चाहिए ताकि सजावटी चोली तथा सघन आंचल की खूबसरूती सापफ तौर पर झलकती रहे। सिली हुई साडि़यों का नया ट्रेंड चल पड़ा है जिसे आच्छादित नहीं करना पड़ता।

करवाचैथ में विवाह की तरह विभिन्न आर्कषक पौशाकें पहनी जा सकती है। इस त्यौहार में जरदोजी, जाली क्रेप तथा पतली रेशमी कपड़े वाली पौशाकों को उपयोग में लाया जा सकता है। इस त्यौहार में हीरे सहित सपफेद या रंगीन रत्नों से जडि़त आभूषण प्रयोग में लाए जाते हैं।

परम्परा पौशाक में आभूषण भी परम्परागत आकर्षक दिखाई देने चाहिए। लेकिन यदि आधुनिक लुक हो तो महिलाऐ प्रभावशाली आधुनिक आभूषण भी पहन सकती है।

करवाचैथ में मुख्यतः परम्पारिक पोशाको तथा परिधनों को ही पसन्द किया जाता है क्योंकि इनका सम्बन्ध् व्रत तथा पूजा अर्चना से सीध्े तौर पर जुड़ा है। हालांकि बदलते आधुनिक परिवेश में पिफल्मों तथा पफैशन का प्रभाव भी कुछ हद तक इस व्रत में दिखने में मिल जाता है।

लेखिका अन्र्तराष्ट्रीय ख्याति प्राप्त सौन्दर्य विशेषज्ञ है तथा हर्बल क्वीन के रूप में लोकप्रिय है।

Wednesday, October 28, 2015

अभिनेता बनने का सपना पूरा हुआ:अभिनव कुमार

प्रेमबाबू शर्मा

बालीवुड में दस्तक देने वाले अभिनव कुमार ने कई फिल्मों में छोटी-छोटी भूमिकाएं कीं लेकिन मशहूर निर्माता और निर्देशक अनिल शर्मा की ‘‘अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो’ से उनको सही मायने में पहवान मिली। इस फिल्म में उन्हें नोटिस में भी लिया गया। उसके बाद खासा संघर्ष करना पड़ा। अभिनव कुमार स्क्रीन नाम है इस अभिनेता का, जिन्होंने एक थिल्रर फिल्म ‘‘जी लेने दो एक पल से’ बड़े स्क्रीन पर हीरो के रूप में हिंदी सिनेमा में दस्तक दी है।

अभिनव बताते है कि ‘बचपन से ही मैं हिंदी फिल्मों का दीवाना रहा हूं, कई फिल्मों ने मेरे अंदर अपना घर बना लिया है जो लगातार मुझे इसी दिशा में काम करने के लिए प्रेरित करती रही हैं।’

अभिनव एक मध्यम वर्गीय परिवार से हैं, लेकिन उनका परिवार डाक्टर बनाना चाहता था किन्तु उनका सपना तो एक्टर बनने का था अभिनव कहते है कि‘‘मेरे माता-पिता भी मुझे डॉक्टर बनाना चाहते थे लेकिन मेरा रुझान शुरू से फिल्मों की तरफ रहा। जब उन्हें मेरी मंशा का पता चला तो वे लोग बहुत नाराज हुए मगर मेरे बड़े भाई वीरेंद्र प्रधान ने मेरा बहुत साथ दिया और आगे बढ़ने में आर्थिक मदद भी की।’

अभिनव का वास्तविक नाम है, धु्रव कुमार सिंह जो बुलंदशहर के टोडी नांगला गांव के हैं। बीएससी तक की पढ़ाई कर चुके अभिनव का लगाव थियेटर से था। अभिनव ने बताया कि अभिनय के प्रति लगावा उनको बाल्यकाल से ही रहा था। युवा होने पर मैंने श्रीराम सेंटर से एक्टिंग का कोर्स किया।उसके बाद में पीछे मुडकर नही देखा।

सुना था कि आपने स्माल स्क्रीन पर काम किया है?
जी हाॅ। मैंने दो टेली फिल्म ‘‘लाडली’ और ‘‘नौकर’ में काम किया। उसी ने मायावी दुनिया का रास्ता दिखा दिया। फिर एक डॉक्यूमेंट्री ‘‘देख चांद की ओर’ किया जिसने समझा दिया कि अपना चांद तो मुंबई है और वहां गये बिना सपना पूरा नहीं होगा।

ऐसी भी चर्चा है कि जबतक फिल्म में हीरो का रोल नहीं करेंगे, तबतक घर की ओर रूख नहीं जायेंगे ?
यह मेरा सपना है, इस प्रण से मुझे बल भी मिला है। मैं पिछले 14 साल से अपने गांव नहीं गया हैं। मैंने कसम खा रखी है कि जबतक फिल्म में हीरो का रोल नहीं करूंगा, तबतक गांव नहीं जाउगा। अब वह संकल्प पूरा होने जा रहा है। 

लेकिन कई अच्छी फिल्मों के आफर के बाद उनको छोडने की कोई खास वजह ?
मुझे पहले लीड रोल का ऑफर मिला था, लेकिन जिस तरह की फिल्में मिल रही थीं, उसमें काम करने का मतलब था कि फिर कभी गांव-घर वाले को मुंह नहीं दिखा पाऊंगा। लेकिन निर्माता शरद चंद्र और निर्देशक संजीव राय ने थिल्रर फिल्म ‘‘जी लेने दो एक पल’ में खूबसूरत ऑफर देकर मेरे जीवन और शायद करियर को भी खुशी के पलों से भर दिया।’

आपने निर्माता- निर्देशक आर.एस. विकल के साथ भी एक फिल्म की थीं उसका क्या हुआ ?
आर.एस. विकल के निर्देशन में बनी फिल्म ‘‘दहक’ में कैमरा फेस किया मगर वह रिलीज नहीं हो पाई। ‘‘उस फिल्म से फायदा यह मिला कि मुझे सीमा विश्वास और जरीना वहाब जैसे कलाकारों के साथ काम कर बहुत कुछ सीखने और समझने को मिला।

बालीवुड में आगे का सफर कैसा रहा ?
उसके बाद खासा संघर्ष करना पड़ा। ‘‘कुछ क्षेत्रीय फिल्मों में भी हाथ आजमाया लेकिन लगा कि अपने लक्ष्य से भटक जाऊंगा। तब फोकस सिर्फ बॉलीवुड पर ही कर दिया। समय जरूर लगा लेकिन इस बात की तसल्ली है कि बेहतर रास्ते पर आया। उसके बाद में ‘‘अब तुम्हारे हवाले वतन साथियो’ रही। रोल छोटा था लेकिन अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार और बॉबी देओल सरीखे नामचीन स्टारों के काम को करीब से देखने-समझने का मौका मिला और इंडस्ट्री को भी करीब से देख पाया।‘‘

‘‘जी लेने दो एक पल’ को लेकर क्या सोचते है? मेरी पूरी उम्मीद ‘‘जी लेने दो एक पल’ पर ठहर गयी है। ‘‘यह पूरी तरह से पारिवारिक पृष्ठभूमि पर आधारित है. इसमें पति-पत्नी के रिश्ते में आस्था और विश्वास को मुस्तैदी से पिरोया गया।

Happy Birthday- Bill Gates


'तमाशा’ के गीतों में जादू: मोहित

प्रेमबाबू शर्मा

फिल्म ‘तमाशा’ के एक गीत को अपनी आवाज देने वाले गायक मोहित चैहान का कहना है कि दीपिका पादुकोण रणबीर कपूर और गौतम अरोडा अभिनीत फिल्म ‘तमाशा’ के लिए ऑस्कर विजेता ए.आर.रहमान ने शानदार संगीत तैयार किया है।

चैहान ने पहली बार बैंड सिल्क रूट के एल्बम ‘बूंदे’ के ‘डूबा डूबा’ गीत से शोहरत पाई। इसके साथ वह फिल्म ‘वन्स अपॉन अ टाइम इन बिहार’ के लिए एक गीत की रिकॉर्डिंग कर चुके है। फिल्म राॅकस्टार में ‘रॉकस्टार’ रणवीर की आवाज भी बनें। रहमान ‘रॉकस्टार’ में भी एक आम कड़ी थे, लेकिन चैहान का कहना है कि ‘रॉकस्टार’ एक अलग कहानी थी।

उन्होंने कहा, ‘‘यह एक गायक के जीवन की कहानी थी, इसलिए मैं एक आवाज बना। लेकिन ‘तमाशा’ में सिर्फ एक गायक हूं, मुझे उम्मीद है कि जब ‘तमाशा’ आएगी तो दर्शक इसे पसंद करेंगे।’’गौतम ने भी फिल्म मे एक किरदार निभायां है। उनका कहना है कि किरदार उनके लिए मिल का पत्थर साबित होगा।

SCHOOL ENTERPRISE CHALLENGE at JM International School


The students at JM International School, Dwarka, New Delhi, are on the verge of becoming successful entrepreneurs. As participants in the School Enterprise Challenge (under the aegis of the British Council), they are aiming to nurture themselves into globally aware, socially responsible, young magnates.

Infinity Chocolate Products is the brand conceptualized and run by the students at JMIS. Initially, the students brainstormed on the business idea and plan. They further conducted a market research inclusive of consumer survey and competitor analysis which helped them evaluate their strengths, weaknesses, opportunities and threats with respect to their local competitors. 

The core team consists of approximately 200 students who have divided themselves into areas such as Marketing, Operations, Supply and Sales Management. The zealous enthusiasts sell their Handmade Chocolates, Chocolate Popcorns, Chocolate dipped Oreos and Chocopies during the lunch break daily. They also function through special kiosks in neighborhood residential complexes on festive occasions. Stalls are also put up within the school premises on events such as Annual Day, Parent Teacher Meetings, Book Fairs, etc. The consumers savour every bite of Infinity Chocolate Products.

Agriculture Leadership Summit and Awards 2015



Inaugural Session of 8th Agriculture Leadership Summit 2015: from L to R: Dr. MJ Khan, President, Agriculture Today group: Prof. MS Swaminathan, Union Minister Mr. M Venkaiah Naidu; Union Secretary Agriculture, Mr. Siraj Hussain and H.E. Mr. Alphonsus Stoelinga, Netherlands Ambassador to India

Release of 8th Agriculture Year Book 2015 by the Union Minister, Mr. M Venkaiah Naidu, Haryana Agriculture Minister, Mr. Om Prakash Dhankar, Prof. MS Swaminathan and others

Launch of Indian Council of Food and Agriculture and Group photograph of the ICFA Board Members; from L to R: Mr. RD Shroff, Chairman, UPL Group; Capt. P. Kohli, CEO, NCCD; Mr. PL Thanga (IAS 1974 batch), Vice Chairman, Mizoram State Planning Board; Mr. MJ Saxena, MD, Ayurvet Limited; Mr. GB Sundararajan, MD, Suguna Foods Limited; Dr. SK Goel (IAS 1982 batch), former APC Maharashtra, Mr. Siraj Choudhry, Chairman, Cargill India; Mr. Rajvir Rathi, Vice President, Bayer CropScience; Mr. Ravi Verma, Member of Parliament; Dr. P Joshi, South Asia Director, IFPRI; Dr. Ajit Kumar (IAS 1980 Batch), Vice Chancellor, NIFTEM; Dr. Rajaram Tripathi, Chairman, CHAMPF; Sh. Raju Kapoor, Director, Dow AgroSciences; Mr. Atul Chaturvedi, CEO, Adani AgriFresh; Dr. KL Chadha, President, HSI; Dr. HP Singh, Director, JISL; Sh. RS Sodhi, MD, AMUL; Mr. Vijay Sardana; Head Agribusiness, UPL Group; Mr. Anis Ansari, (IAS 1973 batch) Chairman, CARD, Mr. Sunil Khairnar, Chairman, ISAP and Mr. Ram Mudholkar, Director, DuPont India Ltd.

Excessive alcohol consumption continues to damage the society, economy and the health of the individuals


It is the cause of death of over 2.5 million individuals every year (almost 4% of all deaths worldwide), and the third leading risk factor for poor health globally, accounting for 5.5% of disability-adjusted life years lost

Excessive alcohol consumption and under-age drinking are common issues, which all countries globally continue to struggle with. The urgent need to raise awareness about the evils of alcohol consumption has been brought up by most National and International bodies during their annual meetings. However, till now, no strict action has been taken to curb the menace of alcohol.

In a developing country like India, there’s an immediate need for framing a new set of policies, which will focus on reducing excessive alcohol consumption and framing new policies for harm reduction.

Speaking on the issue, Padam Shri Awardees Dr A Marthanda Pillai National President Indian Medical Association and Dr K K Aggarwal – Honorary Secretary General IMA and President HCFI said, “The government should start with formulating new policies, which will focus on reducing the harm caused by excessive alcohol consumption. They should also impose some staunch legal and regulatory measures to limit the access to alcohol in cases of individuals who are below the certain age. The focus should be laid on creating new healthy and social policy interventions regarding alcohol, consumption by targeting vulnerable groups like high-risk drinkers. At present, the country already has some existing policies but they are not being properly implemented in the required areas. Bringing in international public health advocacy and partnerships to educate individuals about the ills can definitely help to free society from the shackles of alcohol consumption.”

As far as our health is concerned, alcohol weakens the communication pathways of the brain, which causes sudden mood shifts, changes behavior and weakens the ability to coordinate. Excessive drinking can aggravate severe cardiovascular issues like cardiomyopathy – stretching and drooping of heart muscle, arrhythmias – irregular heartbeat, heart stroke and high blood pressure. Not only this, excessive consumption can cause liver inflammation problems like steatosis, or fatty liver, alcoholic hepatitis, fibrosis and cirrhosis. It is also a leading cause of obesity.

Towards the cause of a reduction in the alcohol consumption worldwide, the World Medical Association recently during its General Assembly launched a declaration, which focuses on reducing excessive alcohol consumption and framing new policies for harm reduction.

According to it, the following steps that should be taken in this regard:

• Increase alcohol prices, through volumetric taxation of products based on their alcohol strength, and other proven pricing mechanisms, to reduce alcohol consumption

• Regulate access and availability of alcohol by limiting the hours and days of sale, the number and location of alcohol outlets and licensed premises, and the imposition of a minimum legal drinking age

• Governments should tax and control the production and consumption of alcohol, with licensing that emphasizes public health and safety and empowers licensing authorities to control the total availability of alcohol in their jurisdictions

• Public authorities must strengthen the prohibition of selling to minors and must systematically request proof of age before alcohol can be purchased in shops or bars

• Practicing alcohol marketing in a restricted way, so as to prevent the early adoption of drinking by young people and to minimise their alcohol consumption

• Imposing regulatory measures ranging from wholesale bans and restrictions on measures that promote excessive consumption, to restrictions on the placement and content of alcohol advertising that is attractive to young people

• Increase public awareness of harmful alcohol consumption through product labeling and public awareness campaigns.

• Key drink-driving deterrents should be implemented like strictly enforced legal maximum blood alcohol concentration for drivers of no more than 50mg/100ml.

Tuesday, October 27, 2015

इंडस्ट्री के नए चॉक्लेट बॉय हैं कार्तिक आर्यन

प्रेमबाबू शर्मा​

हाल ही रिलीज़ हुए फिल्म 'प्यार का पंचनामा 2' दर्शोकों को खूब पसंद आरही है। इस फिल्म को समीक्षकों ने भी काफी अच्छी रेटिंग दी है, साथ ही फिल्म बॉक्स ऑफिस पर भी अच्छी रफ़्तार से चल रही है। फिल्म के मुख्य अभिनेता कार्तिक आर्यन द्वारा निभाए गए गोगु का किरदार सभी को बेहद पसंद आरहे। केवल फैंस और दर्शक ही नहीं नामी फिल्म निर्देशक भी कार्तिक आर्यन की काफी तारीफ़ कर रहे हैं। यही वजह की अब कार्तिक को बड़े निर्देशकों से अच्छी किरदार के ऑफर्स आना शुरू आना शुरू हो चुके हैं। ट्विटर पर भी सुभाष घाई, आनंद राय, अनुभव सिन्हा, मिलाप जवेरी जैसे कई बड़े निर्देशकों के करती की तारीफ की है।
सुभाष घई ने कहा है ' लगातार 5 मिनट तक बोले गए डायलॉग के लिए कार्तिक को ढेर साडी बधाइयां।'आनंद एल राय ने कहा है 'प्यार का पंचनामा 2' के अभिनेताओं से बहुत प्रस्सन हूँ, सभी ने शानदार काम किया है। भगवान सभी को यश प्रदान करे।'

अनुभव सिन्हा ने कहा है ' शानदार फिल्म है 'प्यार पंचनामा 2', कार्तिक आर्यन की कॉमिक टाइमिंग लाहजवाब है।' इस बात में कोई दोहराय नहीं है की फिल्म 'प्यार पंचनामा 2' से सभी दिल जीतने के बाद कार्तिक अब बॉलीवुड इंडस्ट्री नए चॉक्लेट बॉय बन चुके हैं।

POLITICIAN GOPAL KANDA TURNED PRODUCER FOR BIPASHA’s ‘BHAI MUST BE CRAZY’ !


Produced by Gopal Goyal Kanda, ‘Bhai Must Be Crazy’ is an out and out comedy film starring sensual Bipasha Basu, Prakash Raj along with Vijay Raaz, Sunil Grover (famously known as Gutthi), Sunil Thapa and Guggi.

The film is a complete family entertainer with great action and high quality VFX. Under the Banner of Welcome Entertainment the film will be shot at the picturesque locations of Bangkok and Nepal.

Apart from being a political leader, ‘Bhai Must be Crazy’ is Gopal Goyal Kanda's first feature film as a producer and will resume in the month of November at Nepal.

Monday, October 26, 2015

पैसा नही सिर्फ रोल चाहिए: गौतम अरोडा

प्रेमबाबू शर्मा

साउथ की अनेक फिल्में करने के बाद में गौतम अरोडा फिल्म ‘तमाशा से बालीवुड में डेब्यू कर रहे है। इम्तिआज अली द्वारा निर्देशित तमाशा में मैेन लीड में रणवीर कपूर और दीपिका है।

दिलवाले दुल्हनियां ले जाएंगें, और बर्फी जैसी फिल्मों कायल रहे गौतम सही मायने में सलमान खान के दीवाने रहे है। वह सलमान खान के तारीफों के पुल बांधते नही थकते हैं। गौतम ने कहा कि बॉलीवुड में सबसे अच्छा अनुभव सलमान खान के साथ का रहा है।

‘वह एक अद्भुत इंसान हैं, लोगों को सलमान के बारे में गलतफहमी है। सलमान सेट पर हुकम नहीं देते वह अपनी राय दूसरों पर नहीं थोपते। जब आप उनका साथ चाहते हैं तो वह हमेशा आपके साथ होते हैं।

गौतम को बचपन से ही अभिनय का शौक था,लेकिन बालीवुड में कोई दूर तक रिश्तेदार नही था। इसलिए काफी मे सघर्ष करना पडा।पहले माॅडलिंग फिर डीजे और अभिनय ।आज वह तीनों ही जगह सक्रिय है। गौमत की कई फिल्म साउथ में हिट रही है। अब पहली बार ‘तमाशा’ हिन्दी फिल्मों की रूख कर रहे है। उनका कहना है कि ‘मैं चुनौती मानता हॅू हर किरदार को । हाल में ही उनसे बातचीत करने का मौका मिला। पेश है, मुलाकात के अंशः

तीन वषों के बाद पुनः फिल्म इंडस्ट्री में वापसी हो रही है। आपके लिए यह कैसा अनुभव रहा?
तीन वर्षों के बाद पुनः फिल्म इंडस्ट्री में आगे आना स्वयं में काफी चुनौतीपूर्ण था। मैंने एक कदम पीछे इसलिए हटाया ताकि वह और लंबी छलांग लगा सकें। पिछले कई वषों में मैं माॅडल ,डीजे और अभिनेता तो बन गया, परंतु अपनी जड़ों तथा हकीकत से दूर चले गया। पिछले 3 वर्षों में मैंने हकीकत को जानने की कोशिश की। फिल्म इंडस्ट्री के लोगों से दूर रह कर जीवन के विभिन्न पहलुओं का जानने का मौका मिला। यह अनुभव भी काफी जरूरी था।

‘तमाशा’ फिल्म की शूटिंग के दौरान रंणवीर कपूर के साथ यादगार पल कौन से रहे?
तीन वर्षों के बाद जब मैं सैट पर लौटा तो काफी डरा हुआ था। इस दौरान मैंने एक्टिंग नहीं की थी। मेरे मन में भय व खौफ था। कैमरे का सामना करने के लिए अनुभव काफी जरूरी था। शूटिंग के दौरान रणवीर के साथ काम करते हुए मैंने उनको बहुत बारीकी से देखा और उनसे प्रेरणा भी लेते रहा।

आपने हिट फिल्मों में काम किया है तो क्या आपको लगता है आपके जीवन का सबसे अच्छा समय आ चुका है या फिर बाद में आएगा?
गौतम ने हंसते हुए - अभी तो पिक्चर बाकी है मेरे भाई, यह तो ट्रेलर था। अभी मेरा अच्छा समय आना है, मैं जब तक इंडस्ट्री में रहूंगा तब तक अपने अच्छे अभिनय से लोगों को प्रभावित करने की कोशिश करूंगा। मैं कॉमेडी और रोमांटिक फिल्म करना चाहता हूं। परंतु मुझे इसका अधिक मौका नहीं मिला। इस फिल्म के दौरान मैंने काफी एंज्वाय किया। 

इम्तिआज अली काफी सुलझे डारेक्टर है,उनके साथ काम करने कैसा अनुभव रहे ?
इम्तियाज जी,अनुभवी व सुलझे इंसान है,कलाकारों से कैसे काम लिया जाता है वह उनकी नब्ज जानते है,और उसी के अनुरूप काम लेते है। मेरा उनके साथ करने का एक अलग ही अनुभव रहा है।

साउथ की फिल्मोें अपेक्षा कर रहे है,बालीवुड में काम करने की कोई खास वजह। जबकि जबकि अधिकांश कलाकार साउथ की और कूंच कर रहे है?
मेरे पास भी साउथ कई फिल्मों के आफर है,लेकिन तमाशा में काम करने का आफर मिला तो मैने हाॅ कर थी।

आप माॅडल और डीजे भी कैसे अपने को मैनेंज करते हो?
मैं कम किन्तु अच्छा काम करना पंसद करता हॅू। उसी के मुताबिक काम करता हॅू,साथ ही इस वक्त का ध्यान रखता हॅू कि किसी की भी डेटस क्लेश ना हो।

फिल्म की थीम क्या है ?
यह एक गायक के जीवन की कहानी थी, ‘तमाशा’ में रणवीर सिर्फ एक गायक है मुझे उम्मीद है कि जब ‘तमाशा’ आएगी तो दर्शक इसे पसंद करेंगे।’’

फिल्म में गीत संगीत किसका है ?

दीपिका पादुकोण रणबीर कपूर और अभिनीत फिल्म‘तमाशा’ के लिए ऑस्कर विजेता ए.आर.रहमान ने शानदार संगीत तैयार किया है। मोहित चैहान ने ‘तमाशा’ के एक गीत को अपनी आवाज दी है।

Make-up & Dress for Karva Chauth

Shahnaz Husain
Beauty expert

Make-up:

Karva Chauth is a special day for all married women. It signifies beauty, as all married women, regardless of age, like dressing up. Mehndi, sindur, glass bangles, bindi are all part and parcel of the Karva Chauth festival. But, at work, your make up has to be toned down.

If you have a clear skin, leave out foundation. After cleansing, apply a sunscreen with a built-in moisturizer. For oily skin, apply astringent lotion. Then apply powder. Or, use powder compact. Avoid applying too much powder and pay more attention to the oily areas of the face. Press the powder all over the face and neck, with a slightly damp sponge. This helps it to set and last longer.

If you wish to use foundation, apply a water based one. Add one or two drops of water for a lighter coverage. The foundation should be as close to your skin colour as possible. Then apply powder, as mentioned.

Highlight the cheeks with a blusher, blending well, so that it gives the face a natural glow.

For eye make-up line your lids with eye pencil or kajal. Over this apply a line of brown or gray eye shadow for a softer effect. Then, apply mascara. This helps the eyes to look brighter, but prevents the “heavily made-up” look. Mascara should be applied in two light coats, rather than one heavy one. Apply one coat. Allow it to dry. Comb out the lashes with an eyelash comb or brush. Then apply the second coat and repeat the procedure.

For lipstick, avoid very dark colours, like dark maroon. Colours look even darker in fluorescent lights of offices. Go for pinks, copper or bronze. Orange and shades of orange are the new trend. Or, you can also use light pastel colours like mauve or pink. The colours should not be too bright.

A Bindi is an integral part of make-up for karva chauth. Look for a decorative bindi, to match the colour of your bridal dress. A bindi, studded with small sparkling stones, combined with colour would be most attractive. Lastly, apply perfume.

Following a healthy lifestyle will help to reflect radiance and vitality during the festival. The right diet, exercise, adequate sleep and relaxation are absolutely essential to good looks. In fact, a healthy lifestyle helps to restore beauty and put a glow on the face. A few weeks before the festival, start taking a little exercise, like going for a walk. Of course, take your doctor’s advice first. Walking is good for both body and mind. Deep breathing exercises are also helpful in terms of calming the mind and making it more tranquil.

Dress:

New brides and young wives like to wear their bridal dress for Karva Chauth. It gives them the opportunity to look like a bride again. Today, apart from red, many other colours are popular, like magenta or pink, or out-of-the ordinary colours like sea green, turquoise blue, lavender, strawberry, fushcia, rust, copper, purple and so on. Two colour combinations are also popular.

Lehenga cholis are popular, or one can go for fashionable salwar-kurta, with richly embellished kurtas. As for saris, instead of the traditional way, it can be worn in a way that shows off the decorative choli and the heavy “aanchal” to advantage. In fact, a new trend are the stitched saris, which do not have to be draped, but can just be slipped on. The saris are stitched in innovative ways, with focus on low and decorative backs, halter necks or tie-ups.

Different materials too may be worn for Karva Chauth, as for weddings, like tissues, chiffons, crepes, georgettes. Shimmering materials may be used to set off the attire like gold or silver tissue.

As for jewellery, diamond, white stone jewellery, or coloured stones, are in fashion. Dull or oxidized gold may also be worn. Stone setting, kundan, polki, semi and precious stones combined together, are all the rage. Different alloys are being used too and so are different kinds of finish, even with gold, like matte, oxidised, antique look and so on. With traditional attire, the jewellery should also be traditional. However, if the look is more modern, one can wear one dramatic piece of jewellery.

Traditional wear is usually favoured during Karva Chauth, because it is also associated with fasting and puja. However, as in other aspects of life, the influences of global trends, films and fashion are also felt in our traditional occasions like Karva Chauth.

This festive season, Zindagi lights up your screens with two blockbuster shows


Prembabu Sharma​

Zindagi, the channel that showcases beautiful stories will soon bring festive cheer into our homes. Titled Daam & Ashk, the channel’s two latest offerings, will premiere on 26th October and 29th October 2015 respectively. They are two beautiful stories that will grip us with their emotions.

Daam, airing on 26th October at 8.30pm, will question true friendship and love. It narrates the tale of two best friends, Zara and Maliha, whose bond remains unbroken despite their economic disparities. This seemingly unbreakable friendship faces a challenge when Maliha’s brother, Junaid, shows interest in marrying Zara. Maliha cannot fathom her friend from a lower social class as her possible sister-in-law. In an effort to break Zara & Junaid’s bond of love, she offers a friend a ‘daam’ to leave her brother.

The conflict between choosing love or money forms the core of this intense drama. With a stellar cast including Aamina Sheikh, Adeel Hussain, Sanam Baloch and Sanam Saeed, Daam sheds light on the social complications of life. Mehreen Jabbar’s masterpeice puts true love & best friendship to test and creates an amazing story for the viewers.

Ashk stars our favourite hero, Fawad Khan and premieres on 29th October at 9:30 pm. Ashk presents different manifestations of love to its viewers. It’s a story of Rohail (Fawad Khan) who lives in Turkey and has never experienced pain in love. His friend Madiha has only loved him but it’s not mutual. Breaking Madiha’s heart, Rohail leaves for Pakistan to marry his cousin Mehr-u-nisa, but on his arrival, rejects her and expresses his preference for her sister, Zaib-u-nisa. Both sisters share a strong bond and Rohail’s sudden change of heart leaves them in a lot of pain and angst. Zaib, however, agrees to marry Rohail just to take revenge for her sister. A phenomenal ensemble cast including heartthrob Fawad Khan & Mehreen Raheel amongst others portrays these complex emotions.

EARTHQUAKE EMERGENCY SURVIVAL GUIDE

P. Menon

DURING
Remain calm. The shaking usually lasts no more than a minute.

If inside, Stay inside……"DROP, COVER, and HOLD" Drop under sturdy furniture. Cover as much as your head and upper body as you can. Hold onto the furniture. I you can not get under sturdy furniture, move to an inside wall or archway and sit with your back to the wall, bring your knees to your chest and cover your head.
Stay away from mirrors and windows. Do not exit the building during the shaking.

If outdoors, Mover to an open area away from all structures, especially building, bridges, and overhead power lines.

If driving, Stop in an open area away from all structures especially bridges, overpasses, tunnels, and overhead power lines. Stay as low as possible inside the vehicle.

BEFORE
Develop a family emergency plan and practice it regularly. Identify an out of area phone contact person to call and check in with.
Choose a couple of family meeting places; pick easy to identify, open and accessible places that you can likely walk to.
Prepare to be self-sufficient for a minimum of three days.
Assemble an emergency supply kit; include food, water, prescription medications and first aid supplies, a battery operated radio, flashlight, extra batteries, shelter, clothing, sturdy shoes and personal toiletries.
Take an approved first aid course.
Quake proof your house by securing heavy furniture and objects.
An extra pair of glasses.
Keep important family documents in a waterproof container. Keep a smaller kit in the trunk of your car.
Important Telephone numbers:
Police : 100 Fire : 101 Ambulance : 102 CATS : 1199

AFTER
Stay calm. Count to 60 to allow time for objects to fall before moving.
Move cautiously and check for unstable objects and other hazards above and around you.
Check yourself for injuries.
Help those around you and provide first aid, if you are qualified. Hang up all phones. Only use phones (including cell phones) if a life is at stake.

Inspect gas, water and electric lines. If there are leaks or if there is any doubt about leaks, shut off mains; evacuate immediately if you hear or smell gas and can’t shut it off. Report leaks to the authorities.Anticipate after shocks, especially if the shaking lasted longer than two minutes.
Stay out of damaged buildings.
Listen to the radio or watch local TV for emergency information and additional safety instructions.

UTILITIES
Locate the main electric fuse box and water service main and natural gas main. Learn how and when to turn these utilities off. Teach all responsible family members. Keep necessary tools near gas and water shut off valves.Remember, turn off the utilities only if you suspect the lines are damaged or if you are instructed to do so. If you turn the gas off, you will need a professional to turn it back on.

EMERGENCY SUPPLIES:
Keep enough supplies in your home to meet your needs for at least three days. Assemble a Disaster Supplies kit with items you may need in an evacuation.
Store these supplies in sturdy, easy-to-carry container such as backpacks, duffle bags or covered trash containers, include:
A three day supply of water (4 liter per person per day) and food that won’t spoil.
One change of clothing and footwear per person, and one blanket or sleeping bag per person.
A first aid kit that includes your family’s prescription medications.
Emergency tools including a battery-powered radio, flashlight and plenty of extra batteries.
An extra set of car keys and or credit card, cash or traveler’s cheques.
Sanitation supplies & Special items for infant, elderly or disabled family members.

More Earthquake Surviving Tips

Humanity Achievers Awards on 27th October




Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: