Search latest news, events, activities, business...

Sunday, December 31, 2017

INTERNATIONAL FRIENDLY MATCH UTTARAKHAND DEHRADUN FOOTBALL ACADEMY VS INTERNATIONAL TIBETAN TEAM 2017


Uttarakhand Football Referee association organized international girls football match on today 31 december 2017

Organizing secretary UFRA Secretary Virendra Singh Rawat

Match between Tibetan international girls team v/s uttarakhand dehradun football academy girls team

Tibetan team won by 3-0, score toshomo 20, paima 60 , s. dohma 89

Chief guest – former national player UFRA match commissioner shri dilbar singh bisht – chief guest given to both team prizes and certificate and best wishes for bright future .

Recently honour to dehradun football academy girl ANITA RAWAT she play Indian women league

Referee- URFA – GOPAL THAPA, RAUNAK RAI, MAHESH SHUKLA, KINSHUK

Dehradun football academy team are anita rawat captain, juniyali rawat, khushi gurung, kajal bisht, neha anand, preeti rawat, sweta kharola, loma, sangeeta kharola, ritika, vaishnavi , tamanna, jigyasha , suman, karishma rawat, poonam rawat, meekashi routhan, alish chaudhary, jyoti gariwal, dfa head coach V.S.RAWAT, Assistatn coach – amit kant

Dfa are promting girls football since 7 years

GLOBAL ROADS BODY INTERNATIOONAL ROAD FEDERATION (IRF) FOR SAFER DRIVING DURING NEW YEAR HOLIDAY SEASON TO USHER IN SAFE NEW YEAR 2018

Geneva based International Road Federation,(IRF) a global body pursuing the mission of safe roads and safe road mobility world wide has expressing concern at India accounting for highest number of road deaths in the world has urged motorists to usher in new year 2018 with happiness and safety as this time of the year is most high risk times on roads world over including India.

“At present India accounts for 10 Per cent of global road accidents with more than 1.51 lakh fatalities annually, highest in the world . As a signatory to Brasilia Declaration, India is committed to reducing the number of road accidents and fatalities by 50 % by 2020. Although efforts in this direction had started earlier, the year 2016 saw the Ministry taking major steps towards fulfilling this commitment.” said Mr K K Kapila,Chairman, International Road Federation (IRF) The International Road Federation (IRF ) which has recently received the prestigious Prince Michael International Road Safety Award 2017 for its Enhanced First Aid Training Programme in India .

“Most of the holiday makers hit the road to various destinations for year end celebrations. But travelling during holiday periods can be more risky because of increased traffic volumes, winter fog, congestion, tiredness, people driving in unfamiliar environments, and a higher number of people who are driving under the influence of alcohol.” Said Mr Kapila,.

“It is very important that citizens welcome the New Year with happiness and safety. Thus, while celebrating, they should understand their responsibility as well. Road safety is everyone’s responsibility, every fatal crash or serious injury has a long-lasting effect on the family and friends left behind,” he said.

“ New year holiday makers should Plan their journey if they are travelling a long way, prepare to have regular rest stops to avoid fatigue. They should stick to the speed limit and never overtake in an unsafe manner. If it’s wet, drive with extra caution and if it’s flooded, forget it. Please drive safely and ensure your holiday memories are happy ones, as we all want a great, safe start to 2017.” Said Mr Kapila.

“ The other suggestions for safe driving during holidays include Ensuring vehicle is properly maintained. With car and tires inspected before one takes a long drive. One should Check vehicle’s oil level, tyre pressure, windshield wipers and washer fluid, heater, defroster, antifreeze, and brakes before departing. During driving one should Pull off the road to make calls, or leave the calling to one of co- passengers” he added.

“The statistics support it — one is much more likely to survive a crash or come out with less injury by wearing your seatbelt. Always keep a safe following distance between yourself and the vehicle in front. Finally, one should relax. Driving during the holiday season can be stressful. Frustration can lead to poor decisions and risky behaviour behind the wheel. However, with the right attitude and some pre-planning it can also be more enjoyable. One should be patient and don’t be provoked by other drivers' aggressive behaviour.” he said.

इंडिया स्पोर्ट्स संघ की महिला एवं मीडिया बैठक वात्सल्य मंदिर में हुई


(द्वारका परिचय न्यूज़ डेस्क)
30 दिसम्बर, २०१७: इंडिया स्पोर्ट्स संघ की महिला एवं मीडिया विंग की बैठक वात्सल्य मंदिर में आयोजित हुई. इस बैठक में श्री सुनील गुप्ता, राष्ट्रीय अध्यक्ष ने संघ की उपलब्धियों एवं देश को नशामुक्त करने, पुरे देश में खेलो एवं खिलाडियों के विकास के कार्यों पर प्रकाश डाला. 

राष्ट्रीय मीडिया सचिव के लिए युवा दीपक बंसल ने भी आगामी वर्षों में संघ की गतिविधियों एवं उपलब्धियों को मीडिया प्रचार-प्रसार में मजबूत आशवासन दिया तथा दिल्ली के 14 जिलों में मीडिया प्रभारी नियुक्त करने का विचार भी रखा. 

कार्यक्रम का मंच संचालन वीरेन्द्र सैनी ने बखूबी निभाया. इस बैठक में दीप्ति जोशी, राष्ट्रीय महामंत्री,महिला विंग, संतोष अग्रवाल, राष्ट्रीय मंत्री, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एस.एस.डोगरा, निशा तिवारी, अध्यक्षा महिला विंग,दिल्ली प्रदेश, स्थानीय समाज सेवी एवं शिक्षाविद राज कुमार जैन, मोहसिन खान, शिरड़ी, महाराष्ट्र से विशेष रूप से सतीश जी ने संघ को मजबूती प्रदान करने हेतु अपने-अपने भी विचार प्रकट किए.

Teaching & World Peace is the need of the Hour-says Guru Hari Pradad ji


Sri Vishnu Mohan foundation organised a spiritual event based on Approaches to the Teacher, Acharyavaan Purusho Veda. 

This event held in India International Centre, where many prominent celebrities like Dilip Cherian, Sadhvi Purvi sakshi ji. Reality TV star. Sanjay Harry kapoor.. Bollywood singer Sameer. .Anu Dheer.. Ex Minister. Sandhya bajaj..and many more media personalities & hundreds of followers were present.. In the welcome address Guru ji ..says that Teaching & World Peace is the need of the Hour.

Happy Birthday- Umakantanand Saraswati Ji Maharaj


Saturday, December 30, 2017

The Indian Heights School has won the prestigious INTERNATIONAL SCHOOL AWARD 2017-2020


The aim of education is to sensitize the students and prepare them to become global citizens. With this aim, The Indian Heights School Sector 23, Dwarka participated in the International School Award for the year 2017-2020 which is accredited by the British Council for bringing international perspective in the school curriculum. The yearlong activities provided a window to the students as they were engrossed in many International Activities. They learnt and shared global trends and educational practices with the wider world. These international activities gave them an opportunity to bring world in their classrooms. The work of our students was highly appreciated by the British Council and the school is once again bestowed with the International School Award, third time in a row. This badge of honor has truly inspired our students to aspire for more such rewarding opportunities.

M L Khanna DAV Public School organised ‘Ullaas’- Jubilation of Youth


M L Khanna DAV Public School, Dwarka organised Interact Fest - ‘Ullaas’ : Jubilation of the Youth on 28th December 2017 in the school premises. The fest provided a platform to the Interactors to showcase their talents and build associations with people that last forever. The dignitaries who graced the occasion were School Manager, Madam Adarsh Kohli, Rtn.Sachin Vats (District Interact Chair Rotary International District 3012), Rtn. V. K. Jain (Past President – Rotary Club of Delhi Uptown), Rtn V. K. Bansal (President Elect – Rotary Club of Delhi Uptown), Rtn. Vikas Kumar ( Director- New Generations Rotary International District 3012), Sh. Dayanand Vats (Chief Editor - National Media Network).

The programme began with the welcome song by the school choir. Principal Monika Mehan extended a ‘sow and grow’ welcome to the guests and presented welcome address. Students of the host school also presented a mesmerising welcome dance. 

As a prelude to the fest an array of online competitions was organized in which various Interact Clubs of Rotary International District 3012 participated. The shortlisted entries of these competitions gave their performances in the Grand Finale of the fest. All the performances by various schools were appreciated by everyone. The Chief Guest- Rtn. V. K. Jain in his speech congratulated the winners and motivated the students to continue their social services towards the community. The winners of these competitions were also felicitated by the guests.

The release of Interact Special newsletter by the Chief Guest made the occasion more glorious. Samiksha Puri, DIR of Rotary District was presented a citation for her noteworthy achievements. She was also conferred upon with a special token of appreciation by Guest of Honour, Rtn V. K. Bansal. The Best Interactors and Teacher In-charges of the Interact Club were also felicitated on the occasion. School Manager, Madam Adarsh Kohli appreciated the efforts of the Interact Club of the school and applauded the zealous participation of different schools. DIR Samiksha Puri expressed her gratitude to all the guests for sparing their valuable time and making this event a great success. The programme culminated with the release of colourful balloons by the guests followed by National Anthem.

Sri VIS, Dwarka Hosted National Level ‘Maha Behes 2017’


A Good leader can engage in a debate frankly and thoroughly knowing that at the end he and the other side must be closer and thus emerge stronger. - Nelson Mandela
On 26th and 27th December the campus of Sri Venkateshwar International School, sector 18, Dwarka added another feather to its cap by organizing the National Level ‘Maha Behes 2017’. Formidable debaters from eight cities were welcomed at Sri VIS. Holding an event of such stature and magnitude is no mean achievement. The ‘Maha Behes’ witnessed a mammoth participation of 29 schools from across the country with over 400 participants. The top qualifying teams from all the ‘Behes’ tournaments this season battled it out to win the coveted title. 

‘Behes’, a non-profit organization is a wonderful way to develop articulate public speaking, critical thinking, negotiating skills and growth in confidence amongst students in schools and colleges throughout India and beyond.

The first day witnessed some adroit participants battle it out through three rounds. Each ‘Behes’ round was conducted in a simplified parliamentary format. Contestants participated in two categories – Cubs from classes 6 – 8 and Lions from 9 – 12 standards. They were given impromptu topics based on a suggested reading. The free-flowing debate format encouraged growth of research, collaborative and analytical prowess apart from oratory skills. The roller coaster ride of ideas was followed by the Christmas Ball, an evening of music, fun and frolic. The stars of the evening were budding Sri VIS musicians who moved the reverberating audience with their foot tapping numbers.

The second day started with knockout rounds of debate. The final ‘Behes’ was judged by all the adjudicators from across the country. After much contemplation, the results were announced with a knife edge finish.

In the ‘Lions’ category, winners were from the team ‘Gucci Gang’ from DPS, RK Puram and IPS Indirapuram. The Sri Venkateshwar team (Pacifiers) were the Runners up. The winner ‘Cubs’ team was from Maxfort School, Dwarka (A Deck With Only Ace Cards) and Queen’s Valley, Dwarka (We Solemnly Swear We’re Up To No Good) team were the Runners up. Stubh Lal from Sri Venkateshwar School was adjudged the ‘Best Lions Speaker’ of ‘Maha Behes 2017’. The ‘Cubs Best Speaker’ was Dhriti Narang from Maxfort School, Dwarka. The finale was followed by the vote of thanks by the ‘Behes’ organizers and Prize distribution ceremony. 

Ms. Shalini Singh, President Tapindu Educational Society graced the occasion as the Chief Guest. Ms. Rita Singh, Director Indirapuram Group of Institutions was the Guest of Honour. The esteemed guests were welcomed by Ms. R Banopreeya, Headmistress Senior Wing with a green accord and a school memento. She also thanked the ‘Behes’ team, Chairman Mr. Sailender Solanki and Principal Ms. Neeta Arora.

The ‘Maha Behes 2017’ culminated with a roaring response and a promise to be bigger and better next year.

Friday, December 29, 2017

रब्ब दी नवाजिश म्यूजिक सौंग दिल्ली में लांच हुआ


(छाया एवं रिपोर्ट: एस.एस.डोगरा)
नई दिल्ली: 29 दिसंबर,२०१७ विश्व भाईचारा संस्था की वुमेन विंग की चेयरपर्सन ममता चौधरी की दिलकश आवाज तथा मशहूर शायर आरिफ़ देहलवी द्वारा रचित गीत को FYLP@MTV रेस्तरा में “रब्ब दी नवाजिश” म्यूजिक सौंग लॉन्च किया गया. इस मौके पर संस्था के अध्यक्ष सरदार एस. एस. मारवाह, राष्ट्रीय महासचिव इक़बाल सिंह जग्देवा सहित ममता चौधरी के माता-पिता, परिवार तथा शुभचिन्तक मौजद थे. 

गौरतलब है कि इस सुअवसर पर उक्त सांग के गीतकार आरिफ देहलवी, कलाकार विकास शोकीन, निशा खान (मिस इंडिया एशिया पेसिफिक फर्स्ट रनर अप) भी उपस्थित थे. “रब्ब दी नवाजिश” एफ बी बी एस द्वारा निर्मित तथा प्राग शर्मा एवं टाइगर द्वारा निर्देशित उक्त गाने को कैमरे में शाकिर अली तथा उनके सहयोगी पॉल ने कैद किया है. कहानी टाइगर ने लिखी तथा संपादन संजीव शर्मा मोशन ऍफ़ एक्स, विशेष सहयोगी ऋषि खत्री हैं. 

इसी म्यूजिक सौंग लॉन्च पार्टी में मीडिया से रूबरू होते हुए वर्ल्ड ब्रदरहूड आर्गेनाईजेशन के अध्यक्ष सरदार एस. एस. मारवाह एवं राष्ट्रीय महासचिव इक़बाल सिंह जगदेवा अनुसार जो भी आम नागरिक सड़क पर घटित चेन/पर्स झपटमार अपराधी को दिल्ली पुलिस थाने अथवा सड़क दुर्घटना में घायल को अस्पताल तक पहुंचाएगा उसको WBO की तरफ समाज के अच्छे और जिम्मेदार नागरिकों को 5,100/- रूपये नकद ईनाम देने एवं सम्मानित भी किया जाएगा. 

इस सुअवसर पर WBO के युवा मोर्चे के अध्यक्ष जसमीत मारवाह, ओंकार सिंह रेनू, मीडिया प्रभारी वीरेंदर सिंह सुनीत,सहित समाज एवं मीडिया क्षेत्र के अनेक हस्तियों ने उपस्थित रहकर कार्यक्रम की शोभा बढाई.

MAHARUDRAM AT SRI RAM MANDIR


Happy Birthday- Shyam Jaju


Happy Birthday- Rajesh Khanna


Thursday, December 28, 2017

India Sports Sangh Media Group Meeting


Release of Music Video by Mamta Chaudhary

नवाजिश करूं मैं यार की रब बुरा माने तो लाख माने !
सौंप दी है डोर तुझे जिंदगी की संभाल के रखना कहीं ना बेगानी हो जाए !

Full song release MH1 TV channel on 29th December 2017



View video @link: https://youtu.be/MiiE31UZYEs

Wednesday, December 27, 2017

सलमान खान इस सदी के सबसे कामयाब अभिनेता: दयानंद वत्स

नेशनल मीडिया नेटवर्क फिल्म फॉउंडेशन ट्रस्ट एवं अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के राष्ट्रीय महासचिव दयानंद वत्स ने इस सदी के सबसे कामयाब फिल्म अभिनेता सलमान खान के 52 वें जन्मदिन पर उनकी दीर्घायु की कामना की है। श्री वत्स ने कहा कि सलमान खान एक नेक दिल इंसान हैं जो बींइग हृयूमन के माध्यम से मानवता की सेवा में लगे हैं। सलमान खान की हालिया रिलीज फिल्म टाइगर जिंदा है उनकी 12 वीं फिल्म है जो सौ करोड क्लब में पहुंची है।

डबल डच रोप स्किपिंग प्रतियोगिता -2017 का सफल आयोजन


पंजाबी बाग स्थित गुरु हरिकिशन पब्लिक स्कूल में स्किप -एन -फिट इंडिया द्वारा डबल डच रोप स्किपिंग प्रतियोगिता -2017 का सफल आयोजन किया गया। 

इस प्रतियोगिता में सहायक पुलिस आयुक्त ऑपरेशन सैल श्री दिनेश कुमार एवं दक्षिणी एशिया रोप स्किपिंग के पुरोधा एवं फाउंडर श्री भीम सेन वर्मा,रोप स्किपिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया के महासचिव श्री निर्देश शर्मा मुख्य अतिथि थे। सभी अतिथियों का स्वागत आयोजन समिति के महासचिव अशोक कुमार निर्भय ने स्मृति चिन्ह एवं पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया। 

इस मौके पर अपने सम्बोधन में सहायक पुलिस आयुक्त ऑपरेशन सैल श्री दिनेश कुमार ने बच्चों को सुरक्षा के प्रति जागरूक रहने के बारे में बताया की किन किन सावधानियों से हम बचाव कर सकते हैं। उन्होंने बच्चों से कहा कि अगर वे स्कूल,बाहर या घर के आसपास कहीं भी कोई खतरा महसूस करें तो तुरंत दिल्ली पुलिस को सूचना दें। उन्होंने विजेता बच्चों को पुरस्कार प्रदान करके उन्हें शुभकामनाएं भी दी। इस अवसर पर रोप स्किपिंग फेडरेशन ऑफ़ इंडिया के महासचिव निर्देश शर्मा ने प्रतियोगिता में पहुँच कर सभी का हौंसला बढ़ाया और जल्द ओलम्पिक में इस रोप स्किपिंग खेल को सम्मलित किये जाने का आश्वासन दिया। 

इस मौके पर मुख्य तकनीकी प्रशिक्षक विवेक सोनी,देवेश माण्डोतिया,दिनेश नवाल,दीपक,चन्द्रिका अधिकारी,प्रियंका सिंह,मुकुल गुप्ता,आज़िम खान,राहुल शर्मा,युद्धवीर सिंह समेत विभिन्न स्कूलों के अध्यापक एवं बच्चों के अभिभावक उपस्थित थे।

डॉ. विनीत दयानंद वत्स राष्ट्रीय स्वास्थ्य सम्मान से सम्मनित किए गए


पोषण एवं प्राकृतिक स्वास्थ्य विज्ञान संघ के तत्वावधान में आज संघ की राष्ट्रीय अध्यक्ष डॉ. निक्की डबास की अध्यक्षता में दिल्ली के इंडिया इंटरनेशनल सेंटर में आयोजित एक भव्य समारोह में स्वास्थ्य एवं पर्यावरण के क्षेत्र में सराहनीय सेवाओं ओर उल्लेखनीय योगदान देने वाले चिकित्सकों ओर पर्यावरणविदों को राष्ट्रीय स्वास्थ्य सम्मान से सम्मानित किया गया। मुख्य अतिथि दिल्ली मेडिकल कॉंसिल के रजिस्ट्रार डॉ. गिरीश त्यागी ने दिल्ली के मशहूर न्यूरो थैरेपिस्ट डॉ. विनीत दयानंद वत्स को उनकी विशेष बाल चिकित्सा कल्याण के क्षेत्र में किए जा रहे महत्वपूर्ण योगदान के लिए शाल, स्मृति चिन्ह और प्रशस्ति पत्र भेंटकर सम्मानित किया। डॉ. विनीत वत्स उत्तरी और पश्चिमी दिल्ली क्षेत्र में मानसिक रुप से कमजोर और अक्षम बच्चों के पुनर्वास के लिए पिछले चार वर्षों से चिकित्सा रत हैं। डॉ. विनीत वत्स समाज के कमजोर और वंचित वर्ग के बच्चों को नि:शुल्क अपनी सेवाएं देते आ रहे हैं। राष्ट्रीय स्वास्थ्य सम्मान से सम्मानित होने पर डॉ. विनीत वत्स ने कहा कि अकेले दिल्ली क्षेत्र में ही विभिन्न मानसिक विकारों से ग्रस्त हजारों बच्चे हैं जिन्हें न्यूरो थैरेपी की आवश्यकता है। लेकिन अभिभावकों में जागरूकता की कमी के चलते वे ये मानने को ही तैयार नहीं होते कि उनके बच्चे में कोई कमी है। यदि वे समय रहते अपने बच्चे को चिकित्सक को दिखाऐं तो उनका इलाज संभव है.ओर वे बच्चे भी सामान्य बच्चों की तरह अपना जीवन जी सकते हैं। भारत में लाखों ऐसे बच्चे हैं जो अभिभावकों में जागरूकता न होने का खामियाजा जिंदगी भर ढोते हैं। आजकल ऐसे बच्चों को स्पेशल चिल्ड्रन कहा जाता है। मुख्य अतिथि डॉ. गिरीश त्यागी ने अपने संबोधन में कहा कि मनुष्य को स्वास्थ्य लाभ के लिए प्रकृति की शरण में जाना होगा और सात्विक पोषण द्वारा अपनी दिनचर्चा व्यवस्थित करनी होगी।

इस मौके पर डा. भागवत राजपूत, गुरप्रीत कौर चड्ढा, डा. सौम्या हिंदुजा, डा. गोपाल ढाकल, उपकार सरदाना को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर डा. बलदेव सिंह बेदी, डा. सुरेन्द्र डबास, रणवीर गहलोत, श्री कलीराम तोमर , डा. दिनेश उपाध्याय. डा. आर. के सिंह, श्री कमल टावरी, डा. राम अवतार ओर बडी संख्या में चिकित्सक उपस्थित थे।

ईश्वर कण कण में है !


आर.डी. भारद्वाज "नूरपुरी "

यह घटना 7 / 8 वर्ष पहले की है , एक मेजर के नेतृत्व में 15 जवानों की एक टुकड़ी हिमालय के अपने रास्ते पर जा रही थी, उन्हें ऊपर कहीं अगले दो महीने के लिए दूसरी टुकड़ीकी जगह तैनात होना था | दुर्गम स्थान, ठण्ड और बर्फ़बारी ने चढ़ाई की कठिनाई और बढ़ा दी थी ! बेतहाशा ठण्ड में यह सभी जवान चले जा रहे थे , उनमें से एक जवान नेअचानक अपनी टुकड़ी के इन्चार्ज , मेजर साहिब से बिनती भरे स्वर में कहा , कि काश ऐसे में उन्हें यहाँ एक कप चाय मिल जाती, तो हम लोग थोड़ा और जोश के साथ आगेबढ़ते जाते | लेकिन रात का समय था और आस पास कोई बस्ती या कोई छोटा मोटा गाँव भी नहीं थी | लेकिन चलते - २ वह सभी आस पास के इलाके पर नज़र रखे हुए थे ,कि शायद उन्हें कहीं कोई उम्मीद की किरण नज़र आ जाए | लगभग एक डेढ़ घण्टे की चढ़ाई के पश्चात उन्हें एक जर्जर हालत में चाय की छोटी सी दुकान दिखाई दी ! मेजरसाहेब से इजाजित लेकर वह सभी उसी तरफ़ घूम गए , लेकिन अफ़सोस उस पर ताला लगा था ! भूख और थकान की तीव्रता के चलते जवानों के आग्रह पर मेजर साहेब ने दुकान का ताला तोड़ने की इज़ाजित दे दी | एक जवान ने दुकान का ताला तोड़ा , दुकान के अंदर चलकर देखा कि चाय बनाने का सभी सामान वहाँ पर उपलब्ध था | जवानों नेचाय बनाई , चाय के साथ खाने को उन्हें बिस्कुट और मठियाँ भी मिल गई | चाय पीकर उनको थोड़ा राहत अनुभव हुई और वह थकान से उबरने के पश्चात जब सभी आगे बढ़नेकी तैयारी करने लगे , लेकिन मेजर साहेब को यूँ चोरो की तरह दुकान का ताला तोड़ने के कारण कुच्छ आत्मग्लानि सी हो रही थी , उनके बाकी साथी जवान भी उनकी तरफ़देखने लग गए कि साहेब अब क्या करने वाले हैं ? थोड़ी देर सोचने के बाद मेजर साहेब ने अपने पर्स में से पाँच - २ सौ के दो नोट निकाले और चीनी के डिब्बे में रख दिया तथादुकान का शटर ठीक से बंद करवाकर, आगे बढ़ गए | इस से मेजर की आत्मग्लानि कुच्छ हद तक कम हो गई और टुकड़ी अपने गंतव्य की और आगे बढ़ने लग गई , यहाँ परपहले से तैनात टुकड़ी उनका इन्तज़ार कर रही थी | इस टुकड़ी ने उनसे अगले दो महीने के लिए चार्ज लिया और वह सभी अपनी ड्यूटी पर तैनात हो गए |

अपनी दो महीने की ड्यूटी की समाप्ति पर इस टुकड़ी के सभी 15 जवान सकुशल अपने मेजर के नेतृत्व में उसी रास्ते से वापिस आ रहे थे , रास्ते में उसी चाय की दुकान कोखुला देखकर वह सभी वहां फ़िर से चाय पीने और थोड़ा विश्राम करने के इरादे से रुक गए | उस दुकान का मालिक एक बूढ़ा चाय वाला था , जो एक साथ इतने ग्राहक देखकरबड़ा खुश हो गया और उनके लिए चाय बनाने लगा | चाय की चुस्कियों और बिस्कुटों के बीच जवान बूढ़े दुकानदार से उसके जीवन के अनुभव पूछने लगे, खास्तौर पर इतनेबीहड़ में दूकान चलाने के बारे में | उस दुकानदार ने उन्हें अपने जीवन की कुच्छ खट्टी मीठी बातें बताई , लेकिन उनकी हर बात पर भगवान में अटूट विश्वास झलकता था | बात- २ पर वह अपने हाथ ऊपर उठाकर भगवान का शुक्रिया अदा करता | उसकी बातों पर हैरानगी ज़ाहिर करते हुए एक जवान से नहीं रहा गया और उसने दुकानदार से सवालकिया , "बाबा ! आप भगवान को इतना मानते हो , अगर भगवान सच में होता तो फ़िर वह आपकी आर्थिक स्थिति में सुधार क्यों नहीं लाता , आपको और आपके परिवार कोउसने इतने बुरे हाल में क्यों रखा हुआ है ?"

दुकानदार बोला, "नहीं साहेब ! ऐसा नहीं कहते, भगवान तो बिलकुल है और मुझे इसमें रत्ती भर भी कोई शक़ नहीं है , और सच में मैंने उनको देखा है, अनुभव किया है !" उसबूढ़े दुकानदार का आख़री वाक्य सुनकर सभी जवान आँखें फाड़ - २ कर उसकी ओर देखने लग गए | ख़ैर , थोड़ी देर तक उसे देखने के बाद मेजर साहिब ने उस से एक सवालकिआ , "आपने भगवान को कब और कहाँ देखा , और आपको यह कैसे लगा कि ईश्वर यही है ?"

सभी जवान उस बूढ़े दुकानदार की तरफ़ हसरत भरी निगाहों से देख रहे थे और वह उनको सम्बोधन करते हुए कहने लगा - "साहब ! मै बहुत मुसीबत में था , एक दिन मेरेइकलौते बेटे को आतंकवादियों ने पकड़ लिया , उन्होंने उसे बहुत मारा पीटा , लेकिन उसके पास कोई जानकारी नहीं थी , इसलिए उन्होंने उसे मार पीट कर वह लोग चले गए !" मुझे मेरे ही गाँव के एक सज्जण ने इसी दुकान पर इस घटना की जानकारी दी और मैं झटपट दुकान बंद करके उसे अस्पताल ले गया , मै बहुत तंगी में था साहेब औरआतंकवादियों के डर से किसी ने मुझे उधार भी नहीं दिया !"

"उस वक़्त मेरे पास दवाईयों के लिए पैसे भी नहीं थे और मुझे कोई उम्मीद भी नज़र नहीं आ रही थी , उस रात साहेब मैं बहुत रोया और मैंने भगवान से प्रार्थना की और मददमांगी , और साहेब ! आप यकीन करना, उस रात भगवान मेरी दुकान में खुद आए और उन्होंने मेरी सहायता की !" उन जवानों में से एक ने पूछा , "भगवान ने ख़ुद आपकीसहायता की ? कैसे ?"

"मैं सुबह जब अपनी दुकान पर पहुँचा, तो ताला टूटा देखकर मुझे लगा की मेरे पास जो कुछ भी थोड़ा बहुत बचा था, वो सब भी लुट गया, लेकिन मेरा शक़ गलत साबित हुआ, मैंधीरे - २ दुकान के अन्दर दाख़िल हुआ तो देखा कि दुकान में सब कुच्छ सही सलामत है ! जब मैंने अपने समान को जाँचना शुरू किया तो देखकर मेरे आश्चर्य की कोई सीमान रही, मैंने देखा कि पाँच सौ के दो नोट चीनी के डिब्बे में भगवान ने मेरे लिए रख दिए थे , मैंने जब इतने सारे रूपये देखे , तो भगवान का लाख - २ धन्यवाद किया, क्योंकिइतने रूपये तो मेरे लिए 5 / 6 दिन की कमाई जैसे थे, उस दिन हज़ार रूपये की मेरे लिए कितनी कीमत थी, यह मैं आपको बयान नहीं कर सकता ! मेरे लिए वह बहुत बड़ी रकमथी और मुझे रुपयों की उस वक़्त जरुरत भी बहुत थी ! अब आप ही बताएँ , मेरे जैसे गरीब आदमी की भगवान के सिवाए कौन मदद कर सकता था, भगवान ने मेरी मदद भीकर दी और किसी को ज़ाहिर भी नहीं होने दिया ! आपने एक पुराना गाना भी सुना होगा - "जिसका कोई नहीं उसका तो ख़ुदा है यारो ! मैं नहीं कहता , किताबों में लिखा है यारो!" सच मानो साहेब ! इस दुनियाँ में केवल भगवान ही है जोकि गरीबों की वक्त - बेवक़्त सहायता करता है ! कम से कम मेरा तो उसमें अट्टल विश्वास है! " वह बूढ़ा इन्सानफ़िर अपने आप में बड़बड़ाता हुआ दुकान की तरफ़ बढ़ने लगा ! भगवान के होने का आत्मविश्वास उसकी आँखों में साफ़ चमक रहा था, यह सुनकर थोड़े समय के लिए वहाँसन्नाटा छा गया !

चौदांह जोड़ी आँखें मेजर की तरफ़ देख रही थी, और मेजर साहेब की नज़र उस बूढ़े दुकानदार को टिकटिक्की लगाए देखे जा रही थी ! एक जवान ने कुच्छ कहने की कोशिश की,लेकिन मेजर साहेब ने उसे चुप रहने के लिए स्पष्ट इशारा कर दिया ! उसके बाद सभी जवान वहाँ से उठे और मेजर साहेब ने फ़िर से चाय का बिल अदा किया और दुकानदार कोगले लगाते हुए बोले "हाँ बाबा ! मैं भी अब समझता हूँ कि - भगवान है, और कण कण में है, ज़र्रे - २ में है, पत्ते - २ में है.... आप भी बिलकुल सच कहते हो , भगवान है , औरआपकी चाय भी बड़ी स्वादिष्ट थी!" इतना कहते ही उसने दुकानदार के हाथ में चाय के पैसे थमाए और सभी जवानो ने अपनी नम आँखों से उस बजुर्ग दुकानदार से जाने कीइजाजित माँगी और उसे हाथ हिलाते हुए , बाये - २ करते हुए वहाँ से चल पड़े !

थोड़ी दूर जाने के बाद एक जवान ने मेजर साहेब से सवाल पूछा, "साहेब जब मैंने उस बजुर्ग दुकानदार को एक हज़ार रुपयों का खुलासा करने की कोशिश की तो आपने मुझे चुपरहने का इशारा क्यों किया ?" मेजर साहेब ने उत्तर दिया, "शायद तुम्हें याद नहीं था , कि दो महीने पहले जिस दिन हम लोग इधर ड्यूटी के लिए आ रहे थे , तो हम लोग तोसीधे ही अपनी मंज़िल की दिशा में चले आ रहे थे , हम में से ही एक जवान ने चाय पीने की इच्छा जाहिर की थी और तभी हम लोग उस दुकान की तरफ़ मुड़ गए थे ! उस वक़्त/ रात उसके दिल में चाय पीने का ख्याल भी ईश्वर की मर्जी से ही आया होगा , दुकान पर पहुँचकर हमने देखा की दुकान पर तो ताला लगा हुआ था , ताला देखकर हम बिनाचाय पिये भी वहाँ से निकल सकते थे , लेकिन ऐसा नहीं हुआ और फ़िर उस दुकान का ताला तोड़ने का ख्याल मेरे मन में आया , हमने ताला तोड़ा दुकान के भीतर जाकरहमने चाय पी , बिस्कुट - मठियाँ भी खाई , हमें वहाँ देखने वाला हमारे सिवाए तो कोई नहीं था , इसके बावजूद भी मेरे मन में ख़्याल आया कि चाय का बिल का भुगतान करनाचाहिए , इसके पैसे तो डेढ़ दो सौ रूपये से ज़्यादा नहीं बनने थे , फिर भी मैंने उस चीनी के डिब्बे में एक हज़ार रूपये रख दिए ! यह सब कुच्छ ऐसे ही तो नहीं हो गया ? यह सबकेवल इत्तेफाक़ मात्र भी नहीं था , हमसे यह सब कुच्छ कोई अदृश्य शक्ति ही करवा रही थी , और वह अदृश्य शक्ति भगवान / ईश्वर / अल्ला / ख़ुदा / या फ़िर निरंकार केसिवाए और कौन हो सकती है ? वह बजुर्ग दुकानदार सच ही कहता था , ईश्वर है और उसकी परेशानी के वक़्त मदद करने की गर्ज़ से ही निरंकार ने हमारे मन में चाय का ख़्याललाया था और बाकी सब कुच्छ भी उसी तरह होता चला गया , जैसे निरंकार करना चाहता था ! एक और बात, वह बूढ़ा दुकानदार अपनी परेशानी की घड़ी में एक हज़ार रूपयेपाकर इतना ख़ुश हो गया कि वह दुकान का टूटा हुआ ताला भी भूल गया, अपने पूरे वार्तालाप में उसने दुकान का ताला टूटने की एक बार भी शिकायत नहीं की , क्योंकि उसेपूरा भरोसा था कि यह सब कुच्छ उस ईश्वर ने ही किया कराया है | इस पूरी घटना की बस यही पूरी सच्चाई है, बाकी और कुच्छ नहीं ! और अब यह बात मैं भी मानता हूँ कि प्रमात्मा है, और कण कण में है, पत्ते - २ में है ! पूरी सृष्टि को चलाने वाली वही एक पर्म शक्ति है !"

NKBPS, Dwarka transforms Waste to Utility

“Every little step counts, we have made a small beginning”

N.K.Bagrodia Public School, Dwarka has taken up an initiative of recycling its waste, which mainly comprises of papers, leftover food from the lunch boxes, used aluminium foil and pencil shavings. The main objective of the waste collection is to sensitize the youth on the importance of natural resources and waste minimization. All the classes collect their waste in separate boxes mainly for waste paper, aluminium foil, pencil shaving and fruit peels. The school has a compost pit wherein all the organic waste is collected. Recycling turns things into utility items which is like a magic. This helps students understand the need to reduce, reuse, recycle and rethink. 

Keeping this in mind, students of Primary wing were given a platform to exhibit their creative talent on Christmas Eve ‘as it is a season of giving and sharing’— by making Christmas tree using waste paper, aluminium foil, pencil shaving. The children participated earnestly in the fun-filled activity and came up with amazing ideas. The objective of the activity was to create love for environment by making best out of waste with the help of recyclable things. The students used a variety of resources like old newspapers, wrinkled old wrapping papers and old cartons to create something new, creative and decorative. Little Bagrodians and their imaginative minds came together in a creative burst of energy to create the ‘Tree of Ecstasy’ on the occasion of Christmas Eve. The glistening Christmas trees along with snowman looked spectacular and awe-inspiring.

In today’s world recycling has a very important place not only to teach young students importance of recycling but also to make them aware about environmental issues.

Happy Birthday- Salman Khan


Tuesday, December 26, 2017

R.D Rajpal School Celebrated ‘VIBGYOR’


The mega event of interschool competitions, VIBGYOR/ was celebrated with great pomp and show at R.D. Rajpal School, Dwarka. Principal Alka Kshatriya highlighted the milestone achievements of the school in her report.

The gala event with joy rides, giant wheel, potter’s wheel, puppet show, magic show and food stalls provided the perfect ambience for parents and children to enjoy to their heart’s content. It was encouraging to see that more than 3000 people had thronged the school grounds.

Competitions in colouring, fancy dress, recitation, music, dance- solo as well as group- saw massive participation of the very young children from schools in and around Dwarka.

The Potter’s wheel corner attracted maximum crowd with adults and children vying with one another to try their hands in giving shape to pots and diyas.

The venue for the Baby show was the most vibrant where the infants and tinytots were seen bubbling with joy.

Provided exemplary service in judging the Baby show. Prizes were awarded to the cutest kid and the Most Aware Parent. The cultural programme comprising music by the school choir, Orchestra and a meaningful ballet ‘seasons’ was captivating Poorva Rohilla of class XII, winner of Torch Bearer of Dwarka Award, for the Best Student (Academics) and the India+ Korea Friendship Quiz was honored on this occasion. Nandini Prasad who won 3rd position in Word Pro Competition was also felicitated.
The second day of the mega event of interschool competitions, VIBGYOR saw enthusiastic Participation from many schools in & around Dwarka at R.D. Rajpal School. Principal Alka Kshatriya highlighted the milestone achievements of the school in her report. 

Prizes were awarded to the cutest kid and the Most Aware Parent. The cultural programme comprising music by the school choir, Orchestra and a meaningful ballet ‘Save Our Rivers’ was captivating.

The third day of the three day mega event of interschool competitions, VIBGYOR saw enthusiastic Participation from many west Delhi schools . The audience were excited to know about the achievements of the students in Academic, Co-Curricular and sports, that were highlighted by Principal Alka Kshatriya in her report.

Prizes were awarded to the cutest kid and the Most Aware Parent. The cultural programme comprising music by the school choir, Orchestra and a meaningful ballet ‘Forget and Forgive’ was captivating.

Banno tere akhiyaan . .by...Mamta chaudhary




View video @link: https://youtu.be/-7yVnw07byI

Mamta Chaudhary ...singer & social worker...did many concert & live shows also working for the welfare of police families....now on 31st Dec. her original song 'Rabb de Nawazish' is going to be release on 'fbbs' channel.


Thought of the Day


Monday, December 25, 2017

भारत रत्न अटल बिहारी वाजपेयी के 93 वें.जन्मदिन पर.विशेष पूजा अर्चना का आयोजन किया

अखिल भारतीय स्वतंत्र पत्रकार एवं लेखक संघ के तत्वावधान में आज संघ के मुख्यालय बरवाला में संघ के राष्ट्रीय महासचिव दयानंद वत्स ने भारत रत्न माननीय श्री अटल बिहारी वाजपेयी जी के 93वें जन्मदिन पर उनकी दीर्घायु के लिए विशेष पूजा अर्चना का आयोजन किया। अटल जी को उनके जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए श्री वत्स ने कहा कि मैं उन सौभाग्यशाली व्यकितयों में हूं जिन्होंने उनके मार्गदर्शन में कार्य किया। उनके अनेकों स्मृति चित्र मानस पटल पर अभी तक अंकित है। अटल जी एक सहृदय कवि, कुशल पत्रकार, समाजसेवी ओर हिंदी के अनन्य सेवक हैं।

REVIVAL OF SC MONITORING COMMITTEE IS LAST HOPE TO SAVE DELHI FEEL RWA’s

Several Resident Welfare Associations (RA’s) in Delhi have welcomed the restoration of Supreme court Monitoring Committee with powers to seal illegal violating constructions and encroachments in the capital.

“The restoration of Supreme Court Monitoring committee should have come early as the arms of governance civic authorities including MCD, DDA and NDMC meant to uphold Supreme Court dignity and rule of law in the capital by stopping mushrooming illegal constructions miserably failed to do so” said Mr Rajiv Kakria of Greater Kailash-1 RWA .

“The civic authorities allowed illegal constructions to come up all these years by sleeping over the mess and kept providing misinformation to the Hon Supreme court and turned Delhi into a complete mess FINALLY the SC has woken up and has Ordered Restoration of the MONITORING COMMITTEE. Things have gone almost beyond redemption and whatever semblance of Order that can be restored as Delhi is already reeling under an Environmental Disaster” said Mr Kakria.

“The Civic authorities in Delhi have kept on relaxing norms to accommodate more and more Construction and Commercialization leaving markets and residential areas in a mess, even potential death traps, as serious violations that can cause loss or damages to life or property go unchecked. The illegal constructions have led to Delhi citizens facing problem of encroached footpaths, Traffic Jams; Parking; Water; Power; Drainage; Sewage; Waste management” said Mr V K Arora of Delhi Resident’s Forum.

“The initial urban planning in the national capital discouraged mixed zones, where commercial and residential spaces coexist. But rules were violated and haphazard commercialisation took place nevertheless by illegally converting residential units into shops, offices, restaurants, showrooms. Upper floors, which were meant to house people, were also used up.” Said Mr V.N.Bali, President, RWA Federation, Delhi East.

“ The recently rejuvenated Monitoring Committee has again started the Sealing Drive and the Shopkeepers are up in arms. The Political Parties instead of politicising and pondering for votes should think for Delhi’s survival as this SC monitoring committee is the last hope to save Delhi from being plundered by greed” said Mr Kakria

Education Hub 2018-19

You can send educational/ motivational articles for booklet.


Download previous year's Booklet.

Thought of the Day


Model - Actress Heena Panchal Christmas bold photo-shoot turns Hot & Sexy Santa

When we talk about Santa the only image which takes place in our mind is a red cap, a long white beard and a bag full of chocolate to wish as Merry Christmas This Christmas is not going to be the same old days. Looks like some big news is on its way!! Just when Christmas is around, Heena Panchal, who we all know is known for her Item Number in Bollywood and bold and sexy image, seems like she's all geared up and ready to increase the temperature this winter. Heena Panchal has done sexy santa photoshoot and gave a marvelous Christmas gift to her fans. The actress looks super-hot in her red outfit thus raising the temperature with her sexy moves. She further wished the viewers a merry Christmas by blowing a flying kiss toward the camera. Recently she had done bold photoshoot now once again she is all set to break the internet once again.

Happy Birthday- Atal Bihari Vajpayee


Thanks for your VISITs

 
How to Configure Numbered Page Navigation After installing, you might want to change these default settings: